सच्चा प्यार इसे कहते हैं

0
55

एक लड़का था वो कभी किसी के चकर में नहीं पड़ा था ना तो उसे किसी से
प्यार हुआ था ना तो वो किसी से कोई मतलब रखता था वो अपने ही आप में
बहुत खुस रहता था और वो अपने मम्मी पापा के काम में हाँथ बटाटा था मगर
हर इन्शान को अपने लाइफ में एक बार ना चाह कर भी किसी ना किसी से
प्यार हो जाता है जैसे की आपको भी हुआ था उसी प्रकार उस लड़के को भी
हो गया एक लड़की से प्यार मगर लड़की उसे चाहती थी लेकिन लड़के को
कुछ भी नहीं पता की वो लड़की मेरे से प्यार करती है क्यूंकि लड़का अपने
आप में ही हमेसा खुश रहता था लड़की उसे मन ही मन उसे चाहती थी लड़की
सोंचती थी हमेसा की उस लड़के को परपोज़ कैसे करू वो तो मेरी तड़फ देखता
भी नहीं है कुछ दिन तक ऐसा ही चलता रहा लड़की सोंचती रहती थी हमेसा उसी
लड़के के बारे में मगर एक दिन ऐसा आया की उस लड़की के सामने उसकी एक
सहेली आगयी और उस लड़की से पूछी की हमेसा तू मुरझाई सी क्यों रहती है
और तू कभी खुश भी नहीं रहती है आखिर बात क्या है तू मुझे बता आज,, तो
लड़की जबाब देती है अपने सहेली को की देख वो सामने वाला लड़का जो है ना
मुझे उससे प्यार हो गया मगर में उसे परपोज़ नहीं कर पा रही हूँ क्यूंकि वो लड़का
मेरी तड़फ तो देखता भी नहीं है तो उसकी सहेली बोलती है की एक काम करते
है तेरे लिए में उस लड़के से परपोज़ करती हूँ सायेद वो लड़का भी तेरे से मन ही
मन प्यार करता होगा तो वो लड़की बोलती है अपने सहेली को की जाके बोल दे
अगर मुझ से प्यार करता होगा तो जबाब देगा नहीं तो में उसे एक तड़फा प्यार
समझ के भूल जाउंगी तो उस लड़की की सहेली एक दिन अच्छा टाइम निकाल कर
उस लड़के के पास जाती है और उस लड़के से बोलती है की वो सामने बाली लड़की
जो है तुमसे बहुत प्यार करती है क्या आप भी उस लड़की से प्यार करते हो तो लड़का
जबाब देता है की जा के बोल दो उस लड़की को की में प्यार नहीं करता हूँ ना तो कभी
करूँगा क्यूंकि वो लड़की मेरे से ऊँचे कास्ट की है और उसके भाई पापा को मालूम
चलेगा तो मुझे जान से मार देगा और में बहुत गरीब हूँ में उसका कुछ नहीं कर पाउँगा
उसकी सहेली ये सब बात सुन के वापस चली आती है फिर वो उस लड़की को बताती
है लड़की इस बात को सुन के चौंक जाती है फिर लड़की दूसरे दिन खुद जा के परपोज़
करती है और लड़के को बोलती है की तुम ऊंच नीच के चकर में मेरे प्यार को समझ
नहीं रहे हो में तुमसे प्यार करती हूँ आज मुझे जबाब दो नहीं तो में जहर खा के मर
जाउंगी तो लड़का बोलता है ठीक है रुको में भी तुमसे प्यार करता हूँ तो उसी टाइम
दोनों गले मिलते है और एक बगीचे में जाता है सांत सा जगह पे बैठता है लड़का लड़की
के गोद में अपना सर रखकर फिर दोनों आपस में प्यारी प्यारी बातें करने लगता है कुछ
देर बाद शाम हो जाता है और फिर शाम को अपने अपने घर चला जाता है फिर दूसरे
दिन मिलते है दोनों लड़की लड़के को बोलती है में तुमसे दूर रह के नहीं जी पाऊँगी अब
हम दोनों एक हो जाते है तो लड़का बोलता है की हम दोनों एक कैसे होंगे तो लड़की
बोलती है की अब हम दोनों शादी कर लेते है तो लड़का बोलता है शादी कभी नहीं हो
सकता क्यूंकि तुम्हारे मम्मी पापा कभी नहीं राजी होंगे हमारे तुम्हारे शादी के लेके,,, तो
लड़की बोलती है लड़के को की तुम अपने मम्मी पापा को जाके राजी करो फिर मुझे अपने
मम्मी पापा को कैसे राजी करना है में अच्छी तरह जानती हूँ फिर दोनों ये सब बातें करके
अपने अपने घर चले जाते है फिर घर जाके लड़का अपने मम्मी पापा को बोलते है अपने
प्यार के बारे में तो लड़के के मम्मी पापा बोलते है की भूल जा उस लड़की को क्यूंकि लड़की
के भाई बाप बहुत ही खतरनाक है और तेरी शादी उस लड़की से करने की मेरी औकात
नहीं है तो लड़का बहुत ही जिद करने लगता है और बोलता है की लड़की भी मेरे से बहुत प्यार
करती है लड़की अपने मम्मी पापा को राजी करा लेगी तो लड़के का मम्मी पापा बोलते है
ठीक है अगर लड़की के मम्मी पापा राजी होंगे तो तेरी उस लड़की से शादी होगी नहीं तो
नहीं होगी तो लड़का बोलता है ठीक है ,,,,,,,

short story,bedtime stories,story,kahani,kahaniya,love story in hindi,short story in hindi,story in hindi

उधर लड़की अपने मम्मी पापा को अपने प्यार के बारे में जैसे ही बोलता है
वैसे ही लड़की के पापा लड़की को थप्पड़ खींच के मरता है उतने में कही
से लड़की के भाई आ जाता है और उसका भाई भी देता है एक थप्पड़ खींच
के और बोलता है कोन है वो लड़का उस लड़के का अड्रेस क्या है तो लड़की
डर लड़के का अड्रेस दे देती है फिर लड़की का भाई और पापा जाते है लड़के
के घर और लड़के को बहार निकाल के बहुत मार मारता है और लड़के को
बोलता है लड़की का भाई अगर मेरी बेहन के ऊपर नजर भी उठा के देखा तो
तेरा आँख निकाल लूंगा फिर ये सब बात कह के लड़की के भाई और पापा आपस
घर आ जाता है और लड़की को भी बोल देता है अगर तेरे दोनों को एक सांथ देखा
तो तेरे दोनों को जान से मार दूंगा और लड़की के घर से बहार आना जाना सब बंद ,,,,
इसी तरीके से एक दिन बिता दो दिन बिता फिर एक महीना बीतगया
इधर लड़का लड़की को सब दिन बेसब्री से इंतजार कर रहा था उसी बगीचे में
की आखिर बात क्या हुआ सायेद लड़की हमें भूल तो नहीं गयी या जान बूझकर
हमें मार तो नहीं खिलबाया अपने भाई पापा से लड़का ये सोंच कर हमेसा हैरान
रहता था फिर अचानक लड़की भी उसी बगीचे में पहुंची उस लड़के से मिलने के लिए
जैसे ही लड़का लड़की एक दूसरे को देखा तो दोनों गले लग के रोने लगे फिर
थोड़ी देर बाद दोनों उसी बगीचे में बैठे और आपस में बात करने लगे तो लड़की
बोलती है लड़के को की तुम्हारे मम्मी पापा राजी हुए शादी के लिए तो लड़का बोलता है
मेरे मम्मी पापा शादी के लिए राजी नहीं हुए तो लड़की बोलती है मेरे मम्मी पापा भी नहीं
राजी हुए शादी के लिए तो लड़का बोलता है की अब क्या होगा तो लड़की बोलती है हम
दोनों को शादी करना है तो हम दोनों को इस गांव को छोर के शहर चलना पड़ेगा तो
लड़का बोलता है नहीं ये नहीं होगा तुम्हारे भाई पापा मेरे माँ बाप को जान से मार देगा
तो लड़की बोलती है की नहीं ऐसा कुछ नहीं होगा तुम्हारे माँ बाप के सांथ में सब देख
लुंगी लड़की लड़के के सांथ बहुत जिद करती है तभी लड़का बोलता है ठीक है मगर
में बहुत गरीब हु और मेरे पास पैसे भी नहीं है और शहर में बगैर पेसो के जायेंगे कहाँ
तो लड़की बोलती है लड़के को ये सब मुझ पे छोड़ दो तो फिर लड़का कहता है ठीक है
तो लड़का बोलता है मगर जायेंगे कैसे तो लड़की बोलती है आज तो शाम भी हो गया
और कुछ तैयारी में भी हम दोनों नहीं है ऐसा करते है आज रहने दो कल सुबह इस गांव
को छोड़ कर सेहर चले जायेंगे लड़का बोलता है ठीक है ये सब बात होने के बाद लड़का
लड़की अपने अपने घर चले जाते है ,,,,,
अगले दिन सुबह सुबह एक दूसरे से दोनों मिलते है फूल फूल तैयारी में उसी बगीचे में
मिलने के बाद लड़की बोलती है अभी चलो बस लगी है उसी बस में बैठ जाते है और चलते है
रेलवे स्टेशन फिर दोनों उसी बस में जाके बैठ जाता है और वो बस रेलवे स्टेशन की और
चल देता है फिर थोड़ी देर बाद बस रेलवे स्टेशन के पास जा के रुक जाती है फिर दोनों
उस बस में से उतर के रेलवे स्टेशन पे जाते है टिकट कटा के ट्रेन में बैठ जाते है दोनों
फिर ट्रेन थोड़ी देर बाद सेहर की और चल देता है फिर दोनों सेहर जाके दोनों खुसी से
रहने लगता है शायद ऊपर वाले का भी येही मर्जी था ,,,,,
इधर गांव में बहुत सोर सराबा हो गया की गांव से एक लड़का लड़की गायब हो गया
तुरंत आते है लड़की के भाई बाप लड़के के घर और लड़के के माँ बाप को बोलते है
की जिस दिन तेरा बेटा गांव आएगा तो तेरे बेटे को काट के फ़ेंक दूंगा इतना सुन के
लड़के के माँ बाप बहुत ही बुरी तरह डर जाते है ये सब बात कह के लड़की के भाई बाप
आपस चला जाता है और पुलिस स्टेशन में एफ आई दर्ज करवा देता है
लड़का लड़की के बारे में ,,,,,,,

short story,bedtime stories,story,kahani,kahaniya,love story in hindi,short story in hindi,story in hindi

फिर अगले दिन पुलिस वाले लड़के के घर आते है और लड़के के माँ बाप से पूछते है तेरा
बेटा कहाँ गया है तो लड़के के माँ बाप बोलते है पुलिस वाले को की मुझे नहीं पता है
तो पुलिस वाले बोलते है की अपने बेटे के बारे में पता कर के जल्दी से मुझे बता जिस
दिन तेरा बीटा मिल जायेगा ना उस दिन तेरे बेटे को में जेहल के अंदर दाल दूंगा इतना
सुन के लड़के के माँ बाप और भी डर जाते है और पुलिस वाले इतना कह के चले जाते है
और उधर लड़का लड़की खुसी से अपना जिंदगी जी रहे थे और इधर लड़के के माँ बाप
लड़के के चिन्ते से मरे जा रहे थे ,,,,,,
इसी तरह दिन पे दिन बीतता गया लड़के के घर पे पुलिस वाले और लड़की के भाई बाप
आते जाते रहे,,,
दिन पे दिन बीतने के बाद एक महीना बिट गया छः महीना बीत गया एक साल
बीत गया ,,,,,
उधर लड़का लड़की को अपने गांव में आने का मन बहुत करने लगा ये सब बातें लड़का
लड़की को सोंचते सोंचते उधर भी एक साल बीत गया एक दिन लड़का लड़की ने अपने
मन में ठान ही लिया की आज अपने गांव जाना है लड़का लड़की दो साल बाद अपने गांव
लोटे फिर लड़का ने लड़की को लेकर अपने घर गया जैसे ही घर पहुंचा
तो लड़की लड़के को घर के अंदर नहीं आने दे रहा था लड़के के माँ बाप तो लड़की
ने जबाब दिया की कुछ नहीं होगा मम्मी पापा हम लोगो को और आप लोगो
को तब ये सब बातें सुनके लड़का लड़की को घर के अंदर आने दिया लड़के के माँ बाप
फिर लड़का अपने घर में रहने लगा और लड़की अपने ससुराल में अपने सास ससुर और
अपने पति के सांथ एक अछि सांस्कारिक पतनी बन के खुसी खुसी रहने लगी,,,,,,,,
फिर अगले ही दिन पुलिस वाले और लड़की के भाई और बाप आ जाता है लड़के के घर
और लड़के को कहता है नीकल बाहर तो सबसे पहले लड़के के माँ निकाल के आती है
बाहर लड़के के माँ बहुत डर जाती है क्यूंकि लड़की के भाई के हाँथ में
देखता है बहुत बड़ा तलवार लड़के के माँ तुरंत देख के चली जाती है घर के अंदर और
लड़की को बोलती है लड़के के माँ बहु बचा ले मेरे बेटे के जान तो लड़की बोलती है माँ
ये आपका बेटा है मगर ये मेरा पति भी है इसकी जान बचाने के लिए में अपनी जान पे खेल
जाउंगी लड़की तुरंत जाती है अपने बेग में से कोट मेरेज का कागज ले के आती है और
बाहर जाती है अपने भाई बाप को बोलती है की चले जाओ यहाँ से मेरे दोनों का कोट मेरेज
शादी हुई है तो लड़की के भाई बोलता है नहीं माता में कोट मेरेज को तो फिर लड़के को
तलवार से मरने जा रहा था तो फिर पुलिस वाले ने रोका और पुलिस वाले ने बोलै लड़की
के भाई को अगर लड़के को तुम मारोगे तो में तुम्हे जेहल के अंदर कर दूंगा क्यूंकि
लड़के लड़की का कोट मेरेज हो गया और लड़का लड़की सरकार के निगरानी में आ गया
है तो अब इन दोनों को छोड़ दो इन्हे अपने हालात पे अब हम सब यहाँ से चलते है फिर
लड़की के भाई बाप और पुलिस वाले चले जाते है लड़की के घर से ,,,,,,

दोस्तों मगर कई बार ऐसा होता है की लड़की मुकर जाती है और लड़के को जेहल जाना
पड़ता है और लड़के को मार भी खाना पड़ता है मगर दोस्तों ये लड़की सुरु से अंत तक
लड़के को सांथ दिया सायेद ऊपर वाला भी इन दोनों को इस लिए भेजा इस धरती पे की
चाहे कुछ भी हो मगर दोनों को एक सांथ ही रहना है सांथ तो रहना ही है क्यूंकि अब एक
गलती कर लिया है ना कोट मेरेज करके सरकार के निगरानी में जो आ गये दोनों
दोस्तों प्यार कभी जात धर्म हिन्दू मुस्लिम बड़ा छोटा अमीरी गरीबी नहीं देखता प्यार तो
प्यार होता है और खास कर के लड़का लड़की का प्यार बहुत ही खतरनाक होता है ,,,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here