माँ बाप को धोखा देकर आशिक़ से मिलने

0
69

लड़के ने नम्बर माँगा आपने दे दिया।
लड़के ने तस्वीर मांगी आपने दे दिया।
लड़के ने वीडियो कॉल के लिए कहा आपने कर ली।
लड़के ने दुपट्टा हटाने को कहा आपने हटा दिया।
लड़के ने कुछ देखने की ख्वाइस की आपने पूरी कर दी।
लड़के ने मिलने को कहा आप माँ बाप को धोखा देकर आशिक़ से मिलने पहुंच गयी।
लड़के ने बाग में बैठकर आपकी तारीफ करते हुए आपको सरसब्ज़ बाग दिखाए आपने देख लिए।
फिर जूस कार्नर पर जूस पीते वक्त लड़के ने हाथ लगाया इशारे किये मगर कोई बात नहीं नया जमाना है ये सब तो चलता ही है।
फिर लड़के ने होटल में कमरा लेने की बात की आपने शर्माते हुए इंकार कर दिया की शादी से पहले यह सब अच्छा तो नहीं लगता न।
फिर दो तीन बार कहने पर आप तैयार हो गई होटल के कमरे में जाने के बाद आप दोनों ने मिल के खूब एंजॉय किया।
अंडरस्टेंडिंग के नाम पर दूल्हा दुल्हन बन गए बस बच्चा पैदा न हो इस पर ध्यान दिया।

short story,bedtime stories,story,kahani,kahaniya,love story in hindi,short story in hindi,story in hindi

फिर एक दिन झगड़ा हुआ सब खत्म क्यूंकि हराम रिश्तों का अंजाम कुछ ऐसा ही होता है।
लेकिन लेकिन।
यहां सरासर मर्द गलत नहीं है वह भेड़िया है वह मुजरिम है वह सब खुछ है।
क्यूंकि आपने तस्वीर नहीं दी थी वह जबरदस्ती आपके मोबाइल में घुस के ले गया था।
आपने तो अपना नम्बर नहीं दिया था वह लड़का खुद आपके मोबाइल से नम्बर ले गया था।
आपने तो वीडियो कॉल नहीं की वह लड़का खुद आपके घर पहुँच गया था आपको लाइव देखने।
जूस कार्नर पर भी जबरदस्ती ले गया था।
होटल के कमरे तक भी वह आपको जबरदस्ती आपके घर से ले गया था।
तो मुजरिम तो सिर्फ लड़का है आप तो बिलकुल भी नहीं।
बच्ची है कोई चार साल की।
आपको समझ नहीं आती।
कचरे में पड़ी लाशें देख कर भी आपको अकल नहीं आती।
बिना सर के मिलने वाले धड़ आपकी अकल पर कोई चोट नहीं देते।
सोशल मिडिया पर आए दिन ज्यादती के बढ़ते हुए केसेज आपको कुछ नहीं बताते।
जूस कार्नर पर जाना अपनी बरहाना नंगी तस्वीर किसी गैर मर्द को देना।

short story,bedtime stories,story,kahani,kahaniya,love story in hindi,short story in hindi,story in hindi

आपको पता था की एक होटल के कमरे में या चार दीवारी में जिस्मों की प्यास बुझाई जाती है बरहाना होकर शर्म के चीथड़े बिखेर जाते है सब पता था आपको सब पता है आपको।
होटल के कमरे में मोहब्बत के अफसाने नहीं लिखे जाते वहां दीना तालीमात नहीं सिखाई जाती वहां इबादत की दर्शगाहे नहीं है।
फिर शिकवा के चार लड़को ने ग्रुप रेप कर दिया।
आप एक भी लड़के के पास क्यों जा रही है।
क्या लगता है आपका जो आपकी इज्जत का ख्याल रखे जो खुद आपको इसी मकशद के लिए लेकर जा रहा है।
अपनी गलती को तस्लीम करें और यह सोशल मीडिया पर यह मार्डन मुजरे आजाद ख्याली अंडरस्टेंडिंग फैशन मेरा जिस्म मेरी मर्जी छोड़ दें यह सब।
अपनी हुदूद में रहेंगी तो आपको कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकता
और जब आप खुद भी तैयार है तो इसे रेप या ज्यादती का नाम न दें।
जिस्म के भूखों से दूर ही रहे लड़का हो या लड़की प्यार जैसे पवित्र रिश्ते को बदनाम न करें प्यार दिल देकर करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here